ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
बस्ती बाढ़ खंड कार्यालय में 2 कर्मचारियों के खिलाफ प्रतिकूल प्रविष्ठी
February 13, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती 12 फरवरी :-  जिले के बाढ खण्ड कार्यालय में वित्तीय नियमों का अनुपालन न पाये जाने पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने गहरा असंतोष व्यक्त करते हुए विस्तृत जाॅच के आदेश दिये है। बाढ खण्ड कार्यालय के निरीक्षण के दौरान दो कर्मचारियों की लापरवाही पर उन्हें प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया है।
निरीक्षण में उन्होने पाया कि कार्यालय में कई आलमारिया विभिन्न जाॅच संबंधी पत्रावलियों से भरी है। उन्होने निर्देश दिया कि एक सप्ताह में सभी अभिलेखों का डिजिटाईजेशन कराकर सूचित करें। साथ ही जो पुरानी पत्रावलिया बीडिंग योग्य है उनका निस्तारण कराये। प्रत्येक रविवार को कार्यालय में सफाई अभियान संचालित करें।
निरीक्षण में जिलाधिकारी ने पाया कि इस कार्यालय में आवश्यकता से अधिक लिपिक कार्य कर रहे है। उन्होने अधिशासी अभियन्ता को निर्देश दिया कि वे सही-सही आकलन करके रिपोर्ट विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को भेजवाये। उन्होने फोन पर ही अधीक्षण अभियन्ता को वस्तु स्थिति की जानकारी देते हुए निर्देश दिया कि तीन दिन के अन्दर अतिरिक्त कर्मचारियों को हटाकर काम की जगह पर लगाये।
उन्होने अधिशासी अभियन्ता के अलावा सहायक अभियन्ता के कार्यालय का भी निरीक्षण किया। यहाॅ पर वर्ष 2017-18, 2018-19 एवं 2019-20 के भुगतान लम्बित पाये गये। सहायक अभियन्ता ज्ञानधर प्रसाद इसके बारे मे समुचित जवाब नही दे पाये। विलों के निरीक्षण में भी जिलाधिकारी को वित्तीय अनियमितता दिखायी दी।
उन्होने मुख्य कोषाधिकारी श्रीनिवास त्रिपाठी को निर्देश दिया कि वे अपनी टीम लगाकर पूरे कार्यालय के वित्तीय अभिलेखों का निरीक्षण करें एवं रिपोर्ट दे। उन्होने कहा कि यदि गम्भीर अनियमितता पायी गयी तो स्पेशल वित्तीय आडिट के लिए शासन को संस्तुति भेजी जायेंगी। उन्होने सहायक अभियन्ता कार्यालय में कार्यरत अशोक सिंह के चार्ज का भी जाॅच करने का मुख्य कोषाधिकारी को निर्देश दिया है।  
निरीक्षण के दौरान उन्होेने पाया कि जिलेदार चक्रधारी के पास भूमि खरीद का कोई नक्शा, रजिस्टर, रिकार्ड नही है। जबकि बाढ खण्ड द्वारा बन्धा निर्माण के लिए कई स्थानों पर कास्तकारों से भूमि खरीद की जा रही है। अधिशाषी अभियन्ता बलवीर सिंह ने बताया कि वे भूमि खरीद की जानकारी संबंधित सबडिविजन के अमीनों से प्राप्त करते है।
कार्यालय में लेटर डिस्पैच करने तथा डायरी मेन्टेन करने की जिम्मेदारी लिपिक ओम नारायण की है परन्तु जिलाधिकारी ने जब उनकी आलमारी खुलवाकर देखा तो उसमें रजिस्टर एवं अन्य रिकार्ड बेतरतीब रखे हुए थे। जिलाधिकारी के मांगने पर वर्ष 2018-19 का डिस्पैच रजिस्टर नही दिखा सके। जिलाधिकारी ने दोनों कर्मचारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया है।
उन्होने प्रशासनिक अधिकारी सत्यप्रकाश चैधरी के कक्ष एवं आलमारी का भी निरीक्षण किया। यहाॅ पर आलमारिया सुव्यवस्थित पाये जाने पर संतोष व्यक्त किया तथा श्री चैधरी के कार्यो की सराहना किया। सहायक अभियन्ता बलवीर सिंह ने जिलाधिकारी को विभाग में चल रहे कार्य की जानकारी दिया। इस दौरान मुख्य कोषाधिकारी श्रीनिवास त्रिपाठी भी उपस्थित रहे।