ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
गृह कलह दूर करे अपनाए ज्योतिषीय उपाय
January 28, 2020 • कपीश मिश्र • धर्म/,ज्योतिष

दंपति जीवन में कभी-कभी गृह कलह कुंडली के गुणों के कारण भी प्रारंभ हो जाते हैं और बात तलाक तक आ जाती है इससे बचने के लिए शादी से पूर्व लड़की और लड़के के गुण को अवश्य मिला लेना चाहिए ।

१- यदि कुंडली में  गुरु में शुक्र की दशा चल रही हो  यह शुक्र में गुरु की दशा चल रही हो तो परस्पर  कलह  होना तय है  और इस लड़ाई का अंत  तलाक तक पहुंच सकता है।

२- पति या पत्नी के अष्टम भाव में या सप्तम भाव में किसी पापी ग्रह का  होना भी ग्रह क्लेश का कारण होता है पापी ग्रह जैसे  राहु केतु, सूर्य का बैठना भी ग्रह क्लेश का कारण होता है

३- यदि कुंडली में  पति या पत्नी में किसी के भी  सप्तम भाव में  शनी है  तो गृह क्लेश अवश्य होगा और क्लेश तलाक तक बढ़ सकता है

४- ग्रह कलेश  कभी-कभी राहु की वजह से भी  उत्पन्न होता है  इसलिए  कुंडली में राहु का होना भी  अशुभ माना जाता है

उपाय–

१- यदि आपकी कुंडली में गृह कलह का कारण  राहु है तो 8 मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होता है।

२- आपकी कुंडली में यदि ग्रह कलेश का कारण  केतु है   तो  गणेश जी की पूजा करें  और नौ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होता है

३- आपकी कुंडली में यदि ग्रह क्लेश का कारण शनि है तो शनि ग्रह को शांत करने की कोशिश करें और 7 मुखी रुद्राक्ष धारण करें  आपको लाभ होगा

४- सोने का स्थान में शुक्र यंत्र की स्थापना करने से गृह शांत होते हैं

५- पुरुष को हीरा धारण करने से लाभ होता है घर में शांति और धन की वर्षा होती है