ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
जब तक सड़क नहीं बनती जिम्मेदारो के लिए बुद्धि शुद्धि यज्ञ जारी रहेगा - आनंद राजपाल
July 15, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती ::--- शहर को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाले प्रमुख मार्ग पचपेड़िया रोड की बदहाली से नाराज स्थानीय नागरिकों व व्यापारियों ने एक बार फिर धरना प्रदर्शन कर जिम्मेदारों का ध्यान आकृष्ट कराने की कोशिश की है।

बुधवार को प्रदर्शनकारियों ने यज्ञ कर नेताओं और स्थानीय प्रशासन की बुद्धि शुद्धि के लिये भगवान से प्रार्थना की। दूसरी ओर युवाओं ने सड़क पर धान बैठा दिया। कहा सरकार ठोस कदम नही उठा रही है, हम लोग काला नमक बैठा रहे हैं, इसे बेंचकर सड़क बनवायेंगे।

जनान्दोलन का नेतृत्व कर रहे व्यापारी नेता आनंद राजपाल ने कहा यज्ञ अनवरत जारी रहेगा, भरोसा है जिम्मेदारों को भगवान सद्बुद्धि देंगे और सड़क निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। ब्रह्मदत्त पाण्डेय ने कहा कि जनप्रतिनिधि और जिला प्रशासन समस्याओं की अनदेखी कर रहे हैं। इसको परिणाम अच्छे नही होंगे। विनोद गुप्ता ने भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की।

 

कहा जनहित को दरकिनार कर विभागों में लूट खसोट मची है, समस्याओं का अंबार लगा है लेकिन नेता और अधिकारी बंदरबांट में व्यस्त है। बता दें, साल 2019 के जून महीने में चिलचिलाती धूप में दो बार धरना प्रदर्शन किया था, नतीजा ये था कि सड़क के गड्ढों को समतल करने के लिये 19.91 लाख का बजट स्वीकृत हुआ। नगरपालिका ने बाहर से मैटेरियल डालकर गड्ढों को समतल करने की बजाय सड़क की मिट्टी लेकर गड्ढों की लेवलिंग कर दी और पूरे बजट का बंदरबांट हो गया। कहा गया कि हाटमिक्स प्लांट से सड़क बनवाने के लिये डीपीआर भेजा गया है, स्वीकृत होने पर समस्या का स्थायी निदान हो जायेगा।

1 करोड़ 26 लाख का बजट आवंटित हुआ। सूत्रों की माने तो दो महीने तक कमीशन सेट करने में बीत गये। अंततः बात नही बनी और टेण्टर निरस्त करवा दिया गया। स्थानीय नागरिकों और व्यापारियों को पता लगा तो एक बार फिर उनका गुस्सा फूटा और जिलाधिकारी को नोटिस देकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। बुद्धि शुद्धि यज्ञ से शुरू हुये जनान्दोलन के पहले दिन बुधवार को सैकड़ों लोग शामिल हुये। सभी ने जिला प्रशासन और जन प्रतिनिधियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। कुछ लोगों का आरोप है कि सांसद ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर टेण्डर इसलिये निरस्त करवा दिया क्योंकि यह उनके पसंद के ठेकेदार को नही मिला था। आरोपों पर जवाब देते हुये सांसद हरीश द्विवेदी ने कहा

 

‘‘मै विकास या निर्माण कार्यों में बाधा बनू, इसका कोई सवाल ही नही पैदा होता, रही बात टेण्डर निरस्त होने की तो प्रक्रिया में निश्चित रूप से कमी रही होगी, तब डीएम ने निरस्त कराया होगा।’’ कार्यक्रम में रामप्रताप सिंह, यशवंत सिंह, प्रमोद सिंह, आलोक सिंह, आनंद सिंह, अमित सिंह, शिवकुमार, आनंद सिंह राठौर, पुनीत मिश्रा, पप्पू तिवारी, रवि तिवारी, अंकित सिंह, अभिनव सिंह, दीपक सिंह अंकुश सिंह, सुधाकर सिंह, राजेश सिंह, जनार्दन तिवारी, अर्पित उपाध्याय, धर्मेन्द्र, प्रमोद, शलभ, अजय, हरि निषाद, रोहित, संजय कुमार, उदयनरायन सिंह, राकेश तिवारी, विपिन तिवारी, राजकिशोर पाठक आदि मौजूद रहे। आनंद राजपाल ने कहा गृरूवार को कार्यक्रम का नेतृत्व महिलायें करेंगी। छाया बालमुकुन्द