ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
जिलाधिकारी बस्ती ने किया भदेश्चर नाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था का निरीक्षन
February 20, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती- जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन तथा पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर बाबा भदेश्वर नाथ मंदिर पहुंचकर जल चढ़ाया तथा पूजा अर्चना किया और जिले में विकास एवं शांति के लिए प्रार्थना किया तथा यहां पर महाशिवरात्रि के अवसर पर की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 उन्होंने निर्देश दिया कि भीड़ को नियंत्रण करने के लिए बैरिकेडिंग लगाई जाए, लोगों को जल लेने के लिए थोड़ी-थोड़ी दूर पर हैंडपंप स्थापित किए जाएं। मंदिर परिसर एवं आस पास साफ सफाई की चाक-चैबंद व्यवस्था रखी जाए। दोनों अधिकारियों ने मंदिर के चारों ओर भ्रमण करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंदिर के अंदर जल चढ़ाने के बाद श्रद्धालुओं को निकलने के लिए दोनों दरवाजे खुले रखने का निर्देश दिया। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे चालू रखने की हालत में रखे जाने का निर्देश दिया। 

  जिलाधिकारी ने कहा कि जिक जैक के अंदर भी अधिक भीड़ एकत्र न होने दें। बैरियर के पास भीड़ को नियंत्रित करें, खोमचे एवं दुकानदार अपनी दुकाने, ठेले सड़क से थोड़ी दूरी पर लगाएं ताकि लोगों को आने जाने में असुविधा न हो।

 पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने कहा कि प्रत्येक बैरियर को मजबूती से स्थापित करें, प्रत्येक बैरियर पर पर्याप्त फोर्स भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग करें। रात से ही मेला शुरू हो जाता है, इसलिए रोशनी के लिए जनरेटर की व्यवस्था रखें।
           बाबा भदेश्वर नाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष राजेश गिरी ने बताया कि रात में 1.00 बजे से श्रद्धालुओं का आना शुरू हो जाएगा। वह यहीं पर हैंडपंप से जल लेकर के मंदिर में शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं। नदी के किनारे बने मंदिर पर भी उनका जाना होता है, सभी जगह पर पर्याप्त बैरिकेडिंग रोशनी साफ सफाई तथा हैंडपंप की व्यवस्था की जाती है। उन्होंने बताया कि महाशिवरात्रि के अवसर पर लगभग डेढ़ से दो लाख श्रद्धालु आते हैं।
  जिलाधिकारी ने मेले में विकने वाली खाद्य सामाग्री की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा कि यहाॅ पर चाट, पकौड़ी, खोमचे वाले अपने सामान की गुणवत्ता भी सुनिश्चित करें। मेले के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य कैम्प भी लगाया जायेंगा।
  निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी सदर श्रीप्रकाश शुक्ला, तहसीलदार पवन जयसवाल, सीओ गिरीश सिंह, पीएसआई कामेश्वर सिंह, कोतवाल रामपाल यादव, पीआरओ अरविंद कुमार, जिला पंचायत के अभियंता तथा अन्य श्रद्धालु उपस्थित रहे। 

उन्होंने निर्देश दिया कि भीड़ को नियंत्रण करने के लिए बैरिकेडिंग लगाई जाए, लोगों को जल लेने के लिए थोड़ी-थोड़ी दूर पर हैंडपंप स्थापित किए जाएं। मंदिर परिसर एवं आस पास साफ सफाई की चाक-चैबंद व्यवस्था रखी जाए। दोनों अधिकारियों ने मंदिर के चारों ओर भ्रमण करते हुए व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मंदिर के अंदर जल चढ़ाने के बाद श्रद्धालुओं को निकलने के लिए दोनों दरवाजे खुले रखने का निर्देश दिया। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरे चालू रखने की हालत में रखे जाने का निर्देश दिया।

 जिलाधिकारी ने कहा कि जिक जैक के अंदर भी अधिक भीड़ एकत्र न होने दें। बैरियर के पास भीड़ को नियंत्रित करें, खोमचे एवं दुकानदार अपनी दुकाने, ठेले सड़क से थोड़ी दूरी पर लगाएं ताकि लोगों को आने जाने में असुविधा न हो। पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने कहा कि प्रत्येक बैरियर को मजबूती से स्थापित करें, प्रत्येक बैरियर पर पर्याप्त फोर्स भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग करें। रात से ही मेला शुरू हो जाता है, इसलिए रोशनी के लिए जनरेटर की व्यवस्था रखें।
बाबा भदेश्वर नाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष राजेश गिरी ने बताया कि रात में 1.00 बजे से श्रद्धालुओं का आना शुरू हो जाएगा। वह यहीं पर हैंडपंप से जल लेकर के मंदिर में शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं। नदी के किनारे बने मंदिर पर भी उनका जाना होता है, सभी जगह पर पर्याप्त बैरिकेडिंग रोशनी साफ सफाई तथा हैंडपंप की व्यवस्था की जाती है। उन्होंने बताया कि महाशिवरात्रि के अवसर पर लगभग डेढ़ से दो लाख श्रद्धालु आते हैं।
 जिलाधिकारी ने मेले में विकने वाली खाद्य सामाग्री की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा कि यहाॅ पर चाट, पकौड़ी, खोमचे वाले अपने सामान की गुणवत्ता भी सुनिश्चित करें। मेले के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य कैम्प भी लगाया जायेंगा।
 निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी सदर श्रीप्रकाश शुक्ला, तहसीलदार पवन जयसवाल, सीओ गिरीश सिंह, पीएसआई कामेश्वर सिंह, कोतवाल रामपाल यादव, पीआरओ अरविंद कुमार, जिला पंचायत के अभियंता तथा अन्य श्रद्धालु उपस्थित रहे।