ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
जिलाधिकारी ने कि समीक्षा बैठक नगरपालिका को कारण बताओ नोटिस जारी
November 7, 2019 • kapish mishra

 

जिला अधिकारी ने सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर कार्यों कि समीक्षा बैठक की ।जिसमे नगरपालिका और राजस्व विभाग की समीक्षा की और कामियो पर आवश्यक निर्देश भी दिया ।

नगरपालिका को जारी किया कारण बताओ नोटिस
 नयी स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए शासन से जून 2019 में धन आने के बावजूद अभी तक टेण्डर न किए जाने पर जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने असंतोष व्यक्त करते हुए अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका को कारण बताओं नोटिस जारी किया है। उन्होने निर्देश दिया है कि एक सप्ताह में  टेंडर जारी करके कार्य शुरू करने  निर्देश दिया।
समीक्षा में उन्होने पाया कि टेण्डर खोले हुए अभी दस दिन से अधिक हो गया है परन्तु अभी तक इसका तकनीकी परीक्षण नही किया गया। उन्होने निर्देश दिया है कि तीन दिन में तकनीकी परीक्षण पूरा कर टेण्डर स्वीकृत कराये।

टैक्सी स्टैंड टेंडर के संबंध में दिया निर्देश


जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि नगर क्षेत्र के 06 टैक्सी स्टैण्ड में से एक टैक्सी स्टैण्ड का टेण्डर भी नही किया गया है तथा विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है। उन्होने ई-टेण्डरिंग कराने का निर्देश दिया है। उन्होने समीक्षा में पाया कि नगर पालिका द्वारा हाउस टैक्स, वाटर टैक्स, दुकानों का किराया भी नही वसूला जा रहा है तथा काफी धनराशि बकाया चल रही है।  
जिलाधिकारी ने इसके लिए भी अधिशाषी अधिकारी को कारण बताओं नोटिस जारी करने का निर्देश दिया है। उन्होने कहा है कि अपना जवाब देते समय टैक्स वसूली की कार्य योजना भी प्रस्तुत करें। उन्होने पाॅच हजार से उपर बकायेदारों की सूची भी तलब किया है।


उन्होने कहा कि नगर क्षेत्र में जागरूकता अभियान चलाकर सभी दुकानों के सामने दुकानदारों से डस्टविन रखवे तथा प्रतिदिन कूड़ा उठाने का काम करें। उन्होने कहा कि इस संबंध में प्रमुख सचिव/जिले के नोडल अधिकारी ने भी निर्देश दिया है। राजस्व प्राप्ति के संबंध में उन्होने नवम्बर माह में बस्ती एवं बभनान में 105 प्रतिशत तथा हर्रैया में 115 प्रतिशत लक्ष्य निर्धारित किया है।

भूमि बैनामे में लेखपालों की उपस्थिति को अनिवार्य 
, प्रत्येक सरकारी विभाग, निगम के लिए क्रय की जाने वाली भूमि के बैनामों में अनिवार्य रूप से उस क्षेत्र का लेखपाल गवाह के रूप में हस्ताक्षर करेगा।  उन्होने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे अपने लेखपालों को इसके लिए निर्देशित कर दें।
कर एंव करेत्तर तथा राजस्व कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होने निर्देश दिया कि बड़े बकायेदारो से राजस्व वसूली में तेजी लाये।

उन्होने निर्देश दिया कि प्रत्येक अमीन का माहवार लक्ष्य निर्धारित कर तहसीलदार साप्ताहिक समीक्षा करें।
उन्होने कहा कि जिले का 97 नये अमीन मिले है, जिसमें 11 रूधौली मे तैनात किए गये है। अब वहाॅ पर 13 अमीन हो गये है। हर्रैया तहसील में 28 अमीन भेजे गये है इसी प्रकार सदर एवं भानपुर में भी अमीन भेजे गये है। सभी अमीनों का प्रतिदिन का राजस्व वसूली का कार्यक्रम निर्धारित करें तथा सुनिश्चित करे कि अमीन उसका पालन करते है।

भूमिहीनों को पट्ठा आवंटन

उन्होने कहा कि वर्तमान में फसल कट रही है। इसको देखते हुए पूर्व में आवंटित भूमि के पट्टो पर लाभार्थी को कब्जा दिलाने का अभियान संचालित करें।  कृषि, आवास, वृक्षारोपण, कुमारीकला आदि के पट्टों का आवंटन का लक्ष्य पूरा हो गया है। इसके अतिरिक्त यदि भूमि उपलब्ध हो तो पात्र व्यक्तियों में इसका आवंटन करें।


जिलाधिकारी ने समीक्षा में पाया कि 1354 आडिट आपत्तिया लम्बित है। प्रत्येक माह लगभग 200 आडिट आपत्तियों का निस्तारण करने का उन्होने निर्देश दिया। कर्मचारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही पर उन्होने सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए जाॅच अधिकारियों को निर्देश दिया कि शीघ्रातिशीघ्र निर्णय करें।


बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त रमेश चन्द्र ने बताया कि जिलाधिकारी महोदय के निरीक्षण के बाद कलक्टेर के सभी अनुभागों में पत्रावलियों का दाखिल दफ्तर तेजी से किया जा रहा है। निष्प्रयोज्य पत्रावलियों की वीडिंग भी शीघ्र शुरू करायी जायेंगी।

बैठक में सीआरओ चन्द्र प्रकाश, ज्वाइंट मजिस्टेट प्रेम प्रकाश मीणा, उप जिलाधिकारी श्रीप्रकाश शुक्ला, नीरज पटेल, आशाराम वर्मा, तहसीलदारगण, नाजिर मो0 मुस्तफा एवं पटल सहायकगण उपस्थित रहें।