ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
ऑपरेशन दस्तक 31 मार्च तक
March 16, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती । दस्तक अभियान का शुभारंभ सोमवार को हुआ। 31 मार्च तक चलने वाले इस अभियान में आशा घर-घर जाकर लोगों को संचारी रोग के प्रति जागरूक करेंगी। इस बार के अभियान में कोरोना वॉयरस के प्रति लोगों को विशेष रूप से जागरूक किया जाएगा। लोगों को कोरोना के लक्षण, उससे बचाव के तरीके व स्वच्छता की जानकारी दी जाएगी। 
नगरीय क्षेत्र के पुरानी बस्ती स्थित मलिन बस्ती बरसू मोहल्ले में अभियान का शुभारंभ नगरीय नोडल हेल्थ आफिसर बीएन मिश्रा ने फीता काटकर किया। इसी तरह हर ब्लॉक में उदघाटन कार्यक्रम आयोजित किया गया। बीएन मिश्रा ने बताया कि चीन देश से पैदा हुई कोरोना बीमारी एक वॉयरस के रूप में मनुष्य को प्रभावित करती है। अगर किसी को बुखार, खांसी, सांस लेने में दिक्कत और जुकाम की समस्या है तो वह खुद को आम लोगों से दूर रखे तथा चिकित्सक की सलाह पर दवा ले। अगर कोई व्यक्ति विदेश से आया है तो उसे कम से कम 14 दिनों तक परिवार के अन्य लोगों से अलग रहना चाहिए। अगर उसे कोई शिकायत होती है तो उसके संपर्क में आए लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है। कहा कि जागरूकता व स्वच्छता अपनाकर हम इस महामारी पर काबू पा सकते हैं।

कोरोना के बारे में जिले के लगभग चार लाख परिवारों को दस्तक अभियान के दौरान जागरूक किया जाएगा। इसमें लगभग 2.20 लाख ऐसे परिवार हैं, जहां 15 साल तक के बच्चे हैं। एैसे घरों पर दस्तक अभियान के लिए तैयार किए गए विशेष स्टिकर भी चिपकाए जाने हैं। आशा घरों में जाकर मच्छरों के ब्रीडिंग प्वाइंट को भी देखेंगी तथा इसके निदान का तरीका बताएंगी। दस्तक अभियान की सहायता से लोगों को जागरूक कर स्वास्थ्य विभाग ने जेई से होने वाली मौत पर काफी हद तक काबू पा लिया है।

   क्या करें उपाय
बार-बार हाथ धोएं, अल्कोहल आधारित हैंडवाश या साबुन का प्रयोग करें। 
- बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ होने पर तत्काल डॉक्टर को दिखाएं। 
- शिकायत होने पर अन्य लोगों के संपर्क में आने से बचें।
- मुंह व नाक को ढंकने के लिए मॉस्क व कपड़े का प्रयोग करें। 
- छींकते व खांसते समय मुंह पर टिशू पेपर या रूमाल रखें। 
- प्रयोग के बाद टिशू पेपर को बंद डिब्बे में डालें, खुले में न थूकें। 
- कोरोना के लक्षण होने पर तत्काल मेडिकल कॉलेज/जिला अस्पताल में इलाज कराएं
- भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से परहेज करें।