ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
सपा जिलाध्यक्ष महेंद्र नाथ यादव - कर्पूरी ठाकुर ने राजनीति का अर्थ बदल दिया
January 25, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती :-  समाजवादी नेता, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जन नायक कर्पूरी ठाकुर को उनके 96 वें जन्म दिन पर शुक्रवार को समाजवादी पार्टी कार्यालय पर याद किया गया।

सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्रनाथ यादव ने कहा कि ' कर्पूरी ठाकुर का जीवन एक खुली किताब थी, जिसे कोई भी पढ़ सकता था। सत्ता की उन्होंने कभी परवाह नहीं की। जब भी देखा बुनियादी विचारों से समझौते की जरूरत है, उन्होंने सत्ता को तिलांजलि दी।  मुश्किल से वह तीन-साढ़े तीन साल सरकार में रहे होंगे, उनसे अधिक समय तक मुख्यमंत्री रहने वाले अनेक लोग हुए लेकिन उन लोगों ने वैसी छाप नहीं छोड़ी, जैसी कर्पूरी जी ने।  वे आज इस शिद्दत से याद किये जाते हैं तो इसका कारण यह है कि उन्होंने राजनीति को नए अर्थ और रंग दिए।'

पूर्व विधायक राजमणि पाण्डेय, जितेन्द्र कुमार उर्फ नन्दू चौधरी, दूधराम, राजेन्द्र प्रसाद   चौधरी, सिद्धार्थ सिंह, सुमन सिंह, चन्द्रभूषण मिश्र, विजय विक्रम आर्य, अतुल चौधरी,  इन्द्रावती शुक्ल, कृष्णचन्द्र सिंह, राजाराम यादव, राजकपूर यादव, वृजेश मिश्र, जमील अहमद, राहुल सिंह, अखिलेश यादव, अरविन्द सोनकर, कुमकुम भारती, आर.डी. निषाद आदि ने कर्पूरी ठाकुर को नमन् करते हुये कहा कि गरीब नाई परिवार में जन्मे कर्पूरी ठाकुर ने सत्ता के लिये वसूलों से कभी समझौता नहीं किया। जब भी वह सत्ता में आये अपनी ताकत का इस्तेमाल गरीब-गुरबों के लिए किया।  किसान मजदूरों के नजरिये से राजनीति को देखा. ‘जब तक भूखा इंसान रहेगा, धरती पर तूफान रहेगा’ और ‘कमाने वाला खायेगा, लूटने वाला जायेगा’ जैसे नारे तब समाजवादी आंदोलन के नारे होते थे. राजनीति की धुरी को मेहनतकश तबकों पर केंद्रित करना ही उनका लक्ष्य था। संचालन फूलचन्द श्रीवास्तव ने किया।


कर्पूरी ठाकुर को नमन् करने वालों में राम प्रकाश चौधरी, जावेद पिण्डारी, अनवर हुसेन शाह, गंगा यादव, गोरख यादव, घनश्याम यादव, चन्द्रिका यादव, सुरेन्द्र सिंह ‘छोटे’ आमिश खान, रजवन्त यादव, जितेन्द्र यादव, सन्तोष तिवारी, मौलाना इलियास, तिलकराम चौधरी, तूफानी यादव,  जर्सी यादव, वीरेन्द्र कुमार यादव, चिन्ता यादव, रामवृक्ष यादव, मोनू श्रीवास्तव, राम सिंह यादव, रवि राजभर, रोहित चौधरी, धर्मराज यादव, अंकित शर्मा, रामकेश विश्वकर्मा, गिरीश चन्द्र, दीपांकर गौतम, राजेन्द्र चौधरी, मो. सलीम, मो. हामिद, अब्दुल मोईन, गोपाल चौधरी, दीपक तिवारी, पवन यादव, सन्तोष आर्य, संतराम आर्य, विन्ध्यवासिनी निषाद,  के साथ ही सपा के अनेक नेता शामिल रहे।