ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
टिड्डी दल के प्रकोप से किसानों को अपनी फसलों को बचाने के लिए स्वयं सतर्क रहना होगा - जिला अधिकारी बस्ती
June 1, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल

बस्ती l जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया है कि जनपद में टिड्डी दल के प्रकोप से किसानों को अपनी फसलों को बचाने के लिए स्वयं सतर्क रहना होगा। उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद बार्डर से 30 किमी0 की दूरी तक टिड्डी दल का आक्रमण हो चुका है, जिससे किसानों की फसलों को काफी नुकसान हो सकता है।

 

उन्होने जनपद के किसानों से अपील किया है कि अपने खेतो में पटाखा फोडकर, ढोल-नगाड़े बजाकर तथा टिड्डी दल के पीछे डी0जे0 या उच्च ध्वनि विस्तारक यंत्र बजाकर टिड्डियों को भगाया जा सकता है। सभी कृषकगण फसलों को बचाने के लिए कीट नाशक रसायन जैसे क्लोरोपायरीफास 20 प्रतिशत ई0सी0 2.500 लीटर या लैम्बडा साइहेलोथ्रीन 05 प्रतिशत ई0सी0 एक लीटर या डेल्आमेथ्रीन 2.8 प्रतिशत ई0सी0 एक लीटर रसायन 1000 लीटर पानी में घोल बनाकर छिड़काव कर सकते है।

 

          उन्होने बताया है कि टिड्डी दल शाम को 07.00-08.00 बजे के आस-पास जमीन पर बैठ जाता है, फिर सुबह 08.00-09.00 के आस-पास उड़ान भरता है। इसलिए रसायनों का छिड़काव सायं 07.00 बजे से सुबह 09.00 बजे के बीच ही करें। टिड्डियों से बचाव करने के लिए दल के पास त्वरित गति से गड्ढे की खुदायी करते हुए उसमें मैलाथियान 50 प्रतिशत डस्ट डालकर टिड्डियों को गड्ढे में गिराते हुए गड्ढे को मिट्टी से भर देने पर नियंत्रण किया जा सकता है। 

         उन्होने बताया कि जनपद स्तर पर मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में आपदा राहत दल का गठन किया गया है। टिड्डी दल के आगमन एवं उसके प्रकोप के समय कृषकगण सहभागितापूर्ण निगरानी तथा किसी भी समस्या के निदान हेतु जिला कृषि अधिकारी कार्यालय स्थित टिड्डी दल आपदा राहत कंट्रोल रूम फोन नम्बर 05542-283051 पर सम्पर्क कर सकते है।