ALL करोना वायरस राजनीति देश/विदेश बस्ती मण्डल उत्तर प्रदेश आयुर्वेद/जीवनशैली सम्पादकीय जय हो जनता की धर्म/,ज्योतिष वीडियो
उत्तर प्रदेश में बह रही है विकास की गंगा - प्रदेश मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह (मोती सिंह) । विकास पुस्तिका का किया विमोचन
March 19, 2020 • कपीश मिश्र • बस्ती मण्डल


बस्ती 19 मार्च सू0वि0, प्रदेश के ग्राम्य विकास विभाग एवं समग्र विकास मंत्री, जनपद के प्रभारी मंत्री श्री राजेन्द्र प्रताप सिंह‘ मोती सिंह‘ ने कहा है कि विगत तीन वर्षो में मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के नेतृत्व में प्रदेश में सभी क्षेत्रों में विकास  
हुआ है। प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, उज्जवला योजना जैसे महत्वपूर्ण योजनाओं में प्रदेश देश में प्रथम स्थान पर रहा है। मंत्री महोदय आयुक्त सभागार में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होने कहा कि जिला मुख्यमंत्री की प्राथमिकता वाले विकास कार्यक्रमों में प्रदेश में नवे स्थान पर है। जिले में मुण्डेरवा चीनी मिल वर्ष 2000 से बन्द थी। मा0 मुख्य मंत्री जी के सत्त अनुश्रवण के चलते चीनी मिल रिकार्ड एक वर्ष से कम समय में बनकर तैयार हो गया तथा 21 नवम्बर 2019 को इसका पेराई सत्र भी चालू हो गया।  


उन्होने बताया कि रूपया 197.92 करोड़ की लागत से जनपद में महर्षि वशिष्ठ स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय का निर्माण किया गया, जिसमें एम0बी0बी0एस0 की कक्षायें प्रारम्भ  हो गयी है।
उन्होने बताया कि पर्यटन को बढावा देने के लिए मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में अमोढ़ा,मखौड़ाधाम, छावनी, तपसी धाम व श्रृंगीनारी में सौन्दर्यीकरण कर पर्यटन विकास का कार्य किया जा रहा है।
उन्होने बताया कि मनोरमा नदी की सफाई:- मा0 मुख्यमंत्री जी के प्ररेणा से जिले के ऐतिहासिक मनोरमा नदी की सफाई करायी गयी है। लगभग 60 प्रतिशत जलकुम्भी व शैवाल से नदी मुक्त हो चुकी है। नदी के दोनों तरफ सघन वृक्षारोपण भी कराया गया है।
उन्होने बताया कि जनपद में सर्किट हाउस, भारत रत्न श्री अटल बिहारी बाजपेई प्रेक्षागृह, मण्डलायुक्त कार्यालय, कलेक्ट्रेट अनावासीय भवन, सेल्टर होम, ड्राईविंग टेªनिंग इंस्टीट्यूट का निर्माण कराया गया।
सेतुओ का निर्माण
उन्होने बताया कि जनपद में रूपया 899.63 लाख की लागत से महादेवा में मनोरमा नदी पर खखरा अमानावाद घाट सेतु, रूपया 882.01 लाख की लागत से वानपुर घाट पर सेतु, रूपया 732.04 लाख की लागत से रानीपुर घाट पर सेतु, रूपया 730.45 लाख की लागत से ददिला घाट पर सेतु, रूपया 988.90 लाख की लागत से कैथोलिया घाट पर सेतु, रूपया 1253.77 लाख की लागत से अमहट घाट सेतु, रूपया 726.07 लाख की लागत से कचूरे घाट पर सेतु, रूपया 835.07 लाख की लागत से पिपरौला घाट पर सेतु, रूपया 1440.44 लाख की लागत से माझाकित्ता अव्वल सम्पर्क मार्ग पर काली नदी सेतु का निर्माण कराया गया।
स्वास्थ्य
उन्होने बताया कि जनपद में अबतक 07 मुख्यमंत्री आरोग्य मेला का आयोजन किया गया, इसमें कुल 33025 मरीज पंजीकृत किए गये, जिसमें 12651 पुरूष, 15632 महिला तथा 4742 बच्चे शामिल है। इन मेलों में 3179 प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना में गोल्डन कार्ड बनाये गये।
उन्होने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 30865 लोगांे को लाभ पहुॅचाया गया। जननी सुरक्षा योजना के तहत 96615 महिलाए लाभान्वित हुयी एवं रूपया 21.77 करोड़ की धनराशि वितरित की गयी। टीकाकरण अभियान के तहत 175255 टीकाकृत किये गये रूपये 6.83 करोड़ की धनराशि व्यय।
उन्होने बताया कि जननी सुरक्षा योजना के अन्तर्गत 72237 प्रसव हुए, इसमें से ग्रामीण क्षेत्र में 35515 तथा शहरी क्षेत्र में 3302 लाभार्थियों को क्रमशः रूपया 1400 तथा रूपया 1000 भुगतान किया गया। इसके लिए 55200 आशाओं को उनके मानदेय का भुगतान किया गया।
उन्होने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत 159114 लाभार्थी परिवार के सापेक्ष 93423 लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड वितरित किया गया। आयुष्मान भारत योजना के तहत 5809 लाभार्थियों का निःशुल्क इलाज किया गया। वेक्टर जनित 22 रोगियों का उपचार किया गया।
नगर निकाय
उन्होने बताया कि नगरीय स्ट्रीट लाइट के अन्तर्गत जिले के 05 नगर निकायों में 5058 स्ट्रीट लाइट लगायी गयी। अपशिष्ट प्रबन्धन के तहत जनपद के सभी 05 नगर निकायों में 76 में से 62 वार्ड में टोर-टू-टोर पूरा कलेक्शन कराया जा रहा है। अमृत एवं स्मार्ट सिटी योजना के तहत नगर पालिका बस्ती में टीवी टावर पार्क, कटेश्वर पार्क, सुर्ती हट्टा पार्क, शिवा कालोनी पार्क तथा आवास विकास कालोनी में अटल बिहारी बाजपेयी स्मृति पार्क का सुन्दरीकरण कराया जा रहा है। इस पर कुल रू0 505.58 लाख व्यय होगा।


उन्होने बताया कि भू-माफियाओं एवं अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध अभियान में 2009 लोगों पर कार्यवाही हुयी। सार्वजनिक मार्ग एवं भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने के तहत कुल 42 चिन्हित अतिक्रमण हटाये गये।
ऊर्जा
उन्होने बताया कि ट्रांसफार्मरों के प्रतिस्थापन कार्यक्रम के तहत 9179 ट्रांसफार्मरों का प्रतिस्थापन किया गया। उजाला योजना से 2.789 लाख लोग लाभान्वित हुए। जिले में कुल 2815 ग्राम तथा 4352 मजरे है, जिसमें सभी ग्राम एवं मजरों का विद्युतीकरण/ऊर्जीकरण करा दिया गया है। सौभाग्य योजना के अन्तर्गत कुल 149646 निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिये गये। 921 निजी नलकूपों का ऊर्जीकरण किया गया। 699 सोलर स्ट्रीट लाइटे लगायी गयी।  
क्रमशः
शिक्षा
प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के 456540 छात्र-छात्राओं को निःशुल्क पाठ्य पुस्तक, 321542 छात्र-छात्राओं को निःशुल्क बैग, 420284 छात्र-छात्राओं को निःशुल्क यूनिफार्म तथा 283184 छात्र-छात्राओं को निःशुल्क जूता-मोजा वितरित किया गया।
कानून व्यवस्था
उन्होने बताया कि जिले में यू0पी0 112 सेवा में कुल 48 पीआरबी में 363 पुलिस कर्मी तैनात है। जघन्य अपराध के 29 मामलों में कार्यवाही की गयी। महिला अपराध के 67 मामलों में कार्यवाही की गयी। सफेदपोश भू-माफिया, खनन माफिया, शराब माफिया इत्यादि के विरूद्ध 56 मामलों में कार्यवाही की गयी। पुरस्कार घोषित 41 अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही की गयी। 621 लम्बित विवेचनाओं का निस्तारण कराया गया। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के विरूद्ध अपराध के 11 मामलों में कार्यवाही की गयी।
राजस्व
उन्होने बताया कि आपरेशन मीडिएटर के अन्तर्गत संचालित भूमि विवाद निस्तारण अभियान में कुल 185 गाॅव के 308 विवाद आपसी सुलह-समझौते के आधार पर निस्तारित कराये गये। कुल 13 भू-माफियाओं के सापेक्ष 09 के विरूद्ध आरोप पत्र दाखिल किया गया तथा 07 को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। 105666 राजस्व/चकबन्दी वादों का निस्तारण किया गया।
उन्होने बताया कि विभिन्न प्रकार के दैवीय आपदाओं से 25940 प्रभावित व्यक्तियों को 573 लाख रूपये की सहायता राशि वितरित किया गया।
उन्होने बताया किन्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीद योजना के तहत 274083.38 मीट्रिक टन धान की खरीद तथा गेहूॅ खरीद योजना के तहत 186001.85 मीट्रिक टन गेहॅू की खरीद की गयी।
कृषि
उन्होने बताया कि ऋण माफी योजना के तहत 63987 किसानों का रू0 292.253 करोड का ऋण माफ किया गया। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 290661 किसानों को लाभान्वित किया गया। डायरेक्ट बेनीफिट ट्रान्सफर (डीवीटी) के अन्तर्गत 110459 किसानों को रू0 28.86 करोड़ का भुगतान किया गया। 525 सोलर फोटो बोल्टाइक इरीगेशन पम्प की स्थापना कराते हुए रू0 1.53 करोड़ का अनुदान वितरित किया गया। निःशुल्क बोरिंग के योजना के अन्तर्गत 7647 किसानो को रूपया 499.35 लाख का अनुदान दिलाया गया।
उन्होने बताया कि गन्ना मूल्य के भुगतान के अन्तर्गत 141702 किसानों को रू0 1492.77 करोड़ का भुगतान किया गया।
उन्होने बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत 89067 अन्त्योदय तथा 350933 पात्र गृहस्थी कुल 440000 राशन कार्ड वितरित है।
उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अन्तर्गत 120074 लाभार्थियों को निःशुल्क गैस प्रदान किया गया।
 उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 13966 आवास पूर्ण कराये गये। मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रो में 426 आवास पूर्ण कराये गये। प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अन्तर्गत शहरी क्षेत्रों में 8228 लाभार्थियों के आवास पूर्ण कराये गये।
उन्होने बताया कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के अन्तर्गत 9986 श्रमिको को लाभान्वित किया गया। नेशनल पेंशन योजना टेªडर्स के अन्तर्गत 338 व्यापारियों को पंजीकृत किया गया।
उन्होने बताया कि जनपद में कुल 36 रोजगार मेंले आयोजित कर 3552 वेरोजगारों को रोजगार से लाभान्वित किया गया। महात्मा गाॅधी राष्ट्रीय रोजगार गाण्टी योजना (मनरेगा) के अन्तर्गत 14950000 मानव दिवस सृजित करके स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया।
उन्होने बताया कि एक जनपद एक उत्पाद योजना के अन्तर्गत 45 व्यक्तियों को रोजगार के लिए रू0 284.00 लाख वितरित किया गया। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के अन्तर्गत 72 लाभार्थियों को रू0 484.00 लाख वितरित किया गया। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 54 लाभार्थियों को रू0 164.75 लाख वितरित किया गया।
उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के अन्तर्गत 35 लाभार्थियों को रू0 98.00 वितरित किया गया। कौशल विकास मिशन के अन्तर्गत 3926 लाभार्थियों को विभिन्न टेªडो में रोजगारपरक प्रशिक्षण प्रदान किए गये।
उन्होने बताया कि अत्याचार से उत्पीडित अनुसूचित जाति के 607 उत्पीडितों को रू0 6.38 करोड़ की आर्थिक मदद दी गयी।
  उन्होने बताया कि सामूहिक विवाह योजना के तहत विभिन्न धर्मो के 1562 जोड़ो का विवाह कराया गया।
उन्होने बताया कि एकीकृत बाल विकास के तहत 236 आगनबाड़ी केन्द्र भवन बनाये गये।
उन्होने बताया कि राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के अन्तर्गत 1801 लाभार्थियों को रू0 5.33 करोड़ की सहायता राशि प्रदान की गयी।
उन्होने बताया कि दिव्यांगजन पेंशन योजना के अन्तर्गत 11860 दिव्यांगजनों को पंेशन वितरित किया गया।